मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

Saturday, 27 September 2008

Kuchh to karo...

आज जब हर तरफ़ मुसलमानों को शक की नज़र से देखा जा रहा है तो क्यों नहीं मुसलमानों में से ही कुछ लोग आगे आकर सारे लोगों के भ्रम को दूर करने का प्रयास करते हैं. मैं तो यह ही दुआ कर सकता हूँ की कुछ लोग आगे आयें और इस्लाम को चंद ठेकेदारों के चंगुल से निकल कर उसकी सही तस्वीर पेश करें... आमीन ....

No comments:

Post a Comment