मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

Tuesday, 21 July 2009

माया की माया...

रविवार की शाम उत्तर प्रदेश सरकार ने जिस तरह से रीता बहुगुणा जोशी के घर पर आगज़नी में नामज़द विधायक को गन्ना किसान संस्थान का अध्यक्ष मनोनीत कर दिया वह देश में पनप रही विद्वेष की राजनीति की तरफ़ ही इशारा करता है। अभी तक मायावती की छवि ऐसे नेता की रही है जिन्होंने अपने सांसद तक को अपने घर से गिरफ्तार करा दिया था जो की अपने आप में एक मिसाल थी पर अब राजनैतिक मजबूरी या फिर अपनी सर्वोच्चता को साबित करने की कोशिश जो भी हो इस प्रकरण ने मधुमक्खी के छत्ते में हाथ वाली बात को ही साबित कर दिया है। क्या बसपा के पास अच्छे काडर का इस कदर अभाव हो गया है कि पिछले हफ्ते ही आरोपित व्यक्ति को राज्य मंत्री पर से उपकृत किया जाए ? ठीक है कि संविधान ने मुख्यमंत्री को यह अधिकार दिया है कि वह जिसे चाहें अपने स्तर से पड़ सौंप सकती हैं पर क्या इस तरह के पद वितरण को सही कहा जा सकता है ? बसपा की तरफ़ से जिस घटिया तरह से इस बात का बचाव किया गया वह समझ से परे है ऐसा तो नहीं था कि एक हफ्ते पहले की गई नियुक्ति को रद्द नहीं किया जा सकता था ? जबकि इन माननीय का पुराना इतिहास सभी जानते हैं। एक तरफ़ तो राज्य सरकार पुलिस पर दबाव बनाना चाहती है और दूसरी ओर इस तरह की घटनाओं में शामिल लोगों के खिलाफ कोई ठोस कदम उठाने भी नहीं देती। पुलिस आज बहुत दबाव में काम करती है पर उसे तो दोनों तरफ़ के दबाव को देखना और झेलना होता है। ठीक है यदि राज्य सरकार को इन माननीय में बहुत गुण दिखाई देते हैं तो इन पर लगे आरोपों की जांच तक तो रुका जा सकता था ? गन्ना किसान संस्थान में ऐसा कुछ नहीं है कि बिना अध्यक्ष वहां पर गन्ने की बुवाई प्रभावित हो रही हो ?
क्या होगा यदि इस तरह घर फूंकने वालों को मंत्री बनाया जाता रहा ? कोई भी दबंग नेता अपने आस-पास इस तरह से अराजकता फैला कर मंत्री पद पाने की कोशिश नहीं करेगा ? इन बातों का फ़ैसला आख़िर किस स्तर से होगा कि आगे कोई इस तरह से कानून को हाथ में न ले ? फिल हाल इस तरह की घटनाओं पर नज़र रखने वाली जनता आगे क्या करेगी पता नहीं पर राजनैतिक मजबूरियों ने मायावती जैसी कुशल प्रशासक को भी एक सामान्य नेता बनाकर ही छोड़ा जो कि देश के लिए चिंता का विषय है....
मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

2 comments:

  1. हमारा महान लोकतान्त्रिक देश...!!

    ReplyDelete
  2. ऐसा इनाम मिले तो कोई क्या न कर जाये... शायद ये सन्देश है चापलूसों की फौज के लिए की जाओ बेटा जो मेरे खिलाफ हो उसे ख़तम कर डालो.....
    जाने क्या होगा रामा रे....
    www.nayikalam.blogspot.com

    ReplyDelete