मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

Thursday, 2 December 2010

ट्राई और उपभोक्ता


अब लगता है कि बहुत जल्द ही टेलीमार्केटिंग कम्पनियों पर ट्राई का शिकंजा पूरी तरह से कसने वाला है क्योंकि नया साल उन उपभोक्ताओं के लिए बहुत बड़ी राहत लेकर आने वाला है जब रात ९ से सुबह ९ तक किसी भी तरह की कॉल या सन्देश पर पूरी तरह से प्रतिबन्ध लगा दिया जायेगा. वैसे देखा जाये तो ट्राई ने अपने हर काम को समय से पूरा करने की पूरी कोशिश की है पर कुछ स्वार्थी तत्व अपने व्यापारिक हितों के लिए हर जगह कुछ न कुछ नया निकलते रहते हैं जिससे पहले की गयी कोशिश कुछ अधूरी सी लगने लगती है.
   इन नए नियमों में सबसे ख़ास बात यह भी है कि इस बार ज़ुर्माने की राशि २५००० रु० से शुरू होकर छठी बार २.५ लाख तक जाती है और सभी दूरसंचार कंपनियों को उस कॉल सेंटर को ब्लाक करने के लिए भी कहा जायेगा. इससे सबसे पहले यह होगा कि जिस तरह से पूरे दिन उपभोक्ता इन कॉल और सन्देश से परेशान रहते थे अब कम से कम वे रात को तो चैन से सो सकेंगें ? देश में नियमों के तहत किसी को भी पूरी तरह से व्यापार करने की छूट है पर कहीं से भी इस तरह का कुछ भी नहीं किया जाना चाहिए जिससे आम उपभोक्ता का जीना ही हराम हो जाये ? कोई भी उपभोक्ता अपनी निजता को कहाँ तक प्रभावित होने देना चाहता है यह पूरी तरह से उस पर निर्भर होना चाहिए न कि उसके सेवा प्रदाता की तरफ से ?  कुछ स्थितियों में उपभोक्ता की लापरवाही से भी उसका नम्बर इन एजेंसियों तक पहुँच जाता है जिससे फिर बाद में जीना हराम हुआ रहता है ?  
     अच्छा हो कि शिष्टाचार के कुछनियम हर एक द्वारा अपनाये जाएँ क्योंकि अभी तक केवल व्यापारी हितों के लिए के लिए ही इस बाज़ार का दोहन किया जा रहा है जो कि किसी भी स्थिति में उचित नहीं कहा जा सकता है. अभी तक जो कुछ भी हो रहा है उसमें किसी भी तरह से ये कम्पनियाँ उपभोक्ताओं का किसी भी तरह से ध्यान नहीं रख रही हैं तभी इस तरह के सख्त नियम बनाने पड़ रहे हैं.  पहले से जिन नंबरों पर यह सुविधा चल रही है उनके नंबर पूरी तरह से बंद रहेंगे और अपनी सुविधा के अनुसार उपभोक्ता इनमे से  कुछ चुनिन्दा सुविधा लेने के लिए भी अब स्वतंत्र होंगें. उपभोक्ता इन नंबरों को पहचान सकें इसलिए इनको अब आगे से नम्बर भी ७०० की सिरीज़ से ही दिए जायेंगें. साथ ही तराई ने सेवा प्रदाताओं से यह भी कहा है कि वे एक दिन में १०० सन्देश से अधिक न दें क्योंकि इस से कुछ व्यक्तिगत नम्बरों का दुरूपयोग करके इस तरह से सन्देश भेजे जा सकते हैं. साथ ही अब इस सेवा को पूरी तरह से चालू होने में केवल ७ दिन का समय ही लगेगा. 
मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

2 comments:

  1. हमने तो आर-काम की शिकायत मेल से दो बार की ट्राई से, लेकिन ट्राई ही करते है, एक जवाब तक नहीं मिला..ट्राई से..

    ReplyDelete
  2. खबर तो अच्छी है मगर अच्छी चीज़ें देश मे चलती कितने दिन। सब जगह काम करने वाले तो हम ही हैं। धन्यवाद।

    ReplyDelete