मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

Saturday, 29 August 2009

१०० दिन का काम

गाँवों में अब हो रहा १०० दिन का व्यापार,
नेता बाबू लूटते जनता की सरकार ॥
मीरा जी ने कह दिया हो चाहे तकरार,
हर सांसद को चाहिए १०० दिन का रोज़गार।।
१०० दिन का रोज़गार मचाएं जितना हल्ला,
खाने को तो मिले मलाई और रसगुल्ला ।।


मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

No comments:

Post a Comment