मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

Wednesday, 21 October 2009

मनमोहन की नसीहत

कल सैन्य कमांडरों की बैठक में मनमोहन सिंह ने जिस तरह से उन्हें चौकस रहने को कहा उससे लगता है कि कहीं न कहीं कुछ ऐसा ज़रूर है जो चीन के साथ संबंधों में बाधा बन रहा है। वैसे इस बात पर ध्यान भी दिया जाना चाहिए क्योंकि चीन की विस्तारवादी नीति के कारण भारत को उससे युद्ध करना पड़ा था। आज कल मीडिया हर बात पर ध्यान देता है तो हो सकता है कि मीडिया के दबाव को कम करने के लिए ही मनमोहन सिंह ने इस तरह का बयान दिया हो। वैसे सेना के साथ बैठक में और कहा भी क्या जा सकता है उन्हें चौकसी बरतने की सलाह तो हमेशा ही दी जाती है। फिर भी प्रधानमंत्री के इस बयान के बाद देश में यह संदेश तो जाता ही है कि कुछ संवेदन शील है जिसको लेकर प्रधानमंत्री तक चिंतित है। देश में किसी भी विषय पर खबरें दिखाते समय इस बात का भी ध्यान रखा जाना चाहिए कि उसका पूरे देश पर क्या असर होने वाला है। कुछ खबरें केवल सनसनी पैदा करती हैं जिससे कुछ भी हासिल नहीं होता केवल कुछ देर के लिए दर्शक मिल जाते हैं। मीडिया को भी यह देखना चाहिए कि कुछ ताज़ा दिखाने के फेर में वह कहीं कुछ ग़लत ना दिखा दे। फिल हाल कुछ भी हो चीन जैसे देश के व्यापारिक हित भारत के कारण प्रभावित हो रहे हैं ऐसी स्थिति में चीन कोई भी बहाना बना कर कुछ गड़बड़ करने से भी नहीं चूकेगा। अच्छा ही हो कि हम सभी चौकन्ने ही रहें।

मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

2 comments:

  1. बिलकुल जी चौकन्ने तो रहना ही चाहिये जब सब इरे दुश्मन घात लगायें बैठे हों धन्यवाद्

    ReplyDelete
  2. हमारे नेतावो का ये फंडा सही है कि सेनाओ को कहो की तुम चौकस रहो, और खुद सो जावो !

    ReplyDelete