मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

Monday, 8 February 2010

चिदम्बरम की जय हुई ...

रविवार को दिल्ली में आंतरिक सुरक्षा के मसले पर हुई मुख्य मंत्रयों कि बैठक में भाजपा शासित राज्यों के मुख्य मंत्रियों ने नरेन्द्र मोदी की अगुवाई में केंद्रीय गृह मंत्री पी चिदंबरम की बहुत तारीफ की. बहुत दिनों बाद देश में एक वास्तव में चुप चाप काम करने वाला गृह मंत्री मौजूद है और जो राज्य अपने यहाँ सुरक्षा सम्बन्धी मामलों में अभी तक फैसले का इंतज़ार कर रहे  थे  उनको  इस  मामले  में काफी  सहयोग  भी  मिला  है . यह  सही  है  कि देश में हर  बात  पर राजनीति  की जाती  है  जिससे  विकास  सुरक्षा आदि  के मसले भी  इसी कि  भेंट  चढ़  जाते  हैं . यह  सही  है  कि  कोई  एक व्यक्ति  केवल  अपने  दम  पर सब  कुछ  नहीं  बदल  सकता  है  पर आवश्यकता  होने  पर वह  बदलाव  के संकेत  तो  दे  ही  सकता  है  कि अब  बदलाव  का  समय  आ  गया  है . देश में विकास  और  सुरक्षा के साथ  शिक्षा  पर कोई  मतभेद  होना  ही  नहीं  चाहिए  पर यह  देश का  दुर्भाग्य  है  कि आज  तक  कुछ  भी  ठोस  कार्य  योजना  नहीं  बनायीं  जा  सकी  है  जो  समय  रहते  सब  कुछ  ठीक  कर  सके . देश में सब  कुछ  इतना  स्याह  भी  नहीं  है  जितना  कि कुछ  लोग  अपने  फायदे  के लिए  बताया  करते  हैं  फिर भी  किसी  न  किसी  स्तर  पर अभी  भी  बहुत  सुधार  की आवश्यकता  है .
बात यहाँ पर मोदी के तारीफ करने की नहीं है यह भी सही है कि देश में बहुत से लोग मोदी कि विचारधारा से सहमत नहीं है पर इसके बाद भी जिस तेज़ी से गुजरात ने मोदी के नेतृत्व में विकास के नए मानदंड स्थापित किये हैं उनकी अनदेखी भी तो नहीं की  जा सकती है. ठीक उसी तरह से जब भाजपाई मुख्यमंत्री पी सी की तारीफ करते हैं तो उसमें भी कुछ बुरा नहीं है.देश हित में अगर अप्रत्य को पीछे छोड़कर कोई सही कदम उठाना चाहता है तो उसमें पूरी मदद देनी चाहिए. अच्छा हो कि अब देश में घटिया राजनीति को पीछे छोड़ दिया जाये और आगे आकर कुछ ठोस करने कि तरफ भी सोचा जाये.  


मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

2 comments:

  1. देश हित में अगर अप्रत्य को पीछे छोड़कर कोई सही कदम उठाना चाहता है तो उसमें पूरी मदद देनी चाहिए. अच्छा हो कि अब देश में घटिया राजनीति को पीछे छोड़ दिया जाये और आगे आकर कुछ ठोस करने कि तरफ भी सोचा जाये.
    बिलकुल सही कहा आपने जय हिन्द्

    ReplyDelete
  2. देश को अरसे बाद कोई ठोस गृहमंत्री मिला है .
    पर मिडिया ,नेता और आम नागरिक इस दुर्लभ
    मंत्री से अब तक आँखें चुराता रहा है . दुःख है

    ReplyDelete