मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

Sunday, 1 August 2010

ममता का आरोप ?

जिस तरह से रेल मंत्री ममता बनर्जी ने माकपा पर उनकी हत्या करने के लिए आत्मघाती दस्ता बनाये जाने के विचार के बारे में कहा है उससे लगता है कि कहीं न कहीं कुछ ऐसा गड़बड़ ज़रूर चल रहा है जो पश्चिम बंगाल में तूफ़ान खड़ा कर सकता है ? ममता जैसी जनता से जुड़ी नेता इस तरह की बात को बिना किसी सबूत के मीडिया के सामने नहीं रख सकती हैं. जिस तरह से उन्होंने इस सम्बन्ध में माकपा और अन्य सहयोगी दलों पर इस बात का आरोप लगाया है उससे तो यही लगता है कि कहीं न कहीं उनको ऐसी बातें ठोस सबूतों के साथ हाथ लग गयी हैं. यह सही है कि वाम दलों में कुछ तत्व आज भी सशस्त्र संघर्ष में विश्वास करते हैं पर केवल राजनीति के लिए और अपनी राजनैतिक साख़ को बचाने के लिए क्या कोई दल इतना नीचे भी गिर सकता है ?
       ममता ने जिस तरह से यह भी कहा कि इस बैठक के बारे में पश्चिम बंगाल सरकार को भी पूरी जानकारी है वह और भी चिंता जनक है ? आज के समय में राष्ट्र विरोधी तत्व सदैव ही ऐसे अवसरों की तलाश करते रहते हैं  जिनसे उन्हें आगे चलकर काफी मदद मिल सकती हो फिर बंगाल की राजनीति जहाँ पर ममता ने केवल अपने बूते ही बहुत कुछ बदलने का संकल्प ले रखा हो उनके विरोधियों की संख्या कम नहीं है. यह बहुत ही गंभीर आरोप है और इसकी तह में जाने के लिए बंगाल सरकार और केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों को मामले को पूरी संजीदगी से लेना चाहिए. बात यहाँ पर केवल ममता के बयान की नहीं वरन इस बात की है कि क्या अब देश में नेताओं को इस तरह से कुछ तत्व रास्ते से हटाना शुरू कर देंगें ? ममता जैसी नेता जो बहुत अधिक सुरक्षा और ताम-झाम में विश्वास नहीं करती हैं इन तत्वों के लिए आसान निशाना हो सकती हैं इसलिए उनकी सुरक्षा पर पूरा ध्यान दिया जाये और जब वे ख़ुद ही इस तरह के आरोप लगा रही हैं तो केवल वोटों के चक्कर में उनको अपनी सुरक्षा को खतरे में नहीं डालना चाहिए ?
     देश को जितनी ज़रुरत ममता की है उतनी ही बुद्ध देब की..... इस बात का कोई राजनैतिक निहितार्थ नहीं लिया जाना चाहिए क्योंकि जो तत्व आज अपने काम निकालने के लिए ममता को रास्ते से  हटाना चाहते हैं कल को वे किसी अन्य को हटाने के बारे में भी तो सोच सकते हैं ? इस तरह के किसी भी मामले को सभी को अपने राजनैतिक चश्में उतार कर विचार करना चाहिए क्योंकि वे एक दूसरे के राजनैतिक विरोधी तो हो सकते हैं पर वे इस देश और जनता के लिए बड़े बड़े फैसले लेने वाले लोगों में से हैं और किसी भी स्थिति में देश के किसी भी राजनेता पर इस तरह से हमला करने के किसी भी प्रयास को पूरी ताकत के साथ कुचलना ही होगा.    

मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

No comments:

Post a Comment