मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

Saturday, 18 December 2010

अब रूस भी बोला

रूसी राष्ट्रपति दिमित्री मेदवेदेव की भारत से यात्रा से पहले नई दिल्ली में रूसी राजदूत ने कहा है कि पाक को अपने यहाँ चल रहे ४३ आतंकी शिविर बंद करने पड़ेंगें क्योंकि इन शिविरों से पूरी दुनिया में आतंक का निर्यात किया जा रहा है. पाक ने जिस तरह से पूरी दुनिया में इस्लामी आतंक और कट्टरपंथ के जो बीज भेजने का क्रम शुरू किया है वह पूरी दुनिया के लिए बहुत बड़ा खतरा हो सकता है. सबसे बड़ी बात यह है कि अब पूरी दुनिया में कहीं पर भी इस्लामी आतंकी हमला होने पर कहीं न कहीं से उसके तार पाक से अवश्य जुड़ते रहते हैं.
      अब वास्तव में वह समय आ गया है जब पूरी दुनिया को यह पता चल रहा है कि कहीं न कहीं से पूरी दुनिया में इस्लाम के नाम पर आतंक फ़ैलाने का काम पाक द्वारा ही किया जा रहा है. अभी तक जब भारत इस बात को कहा करता था तो कोई हमारी इस बात पर बिलकुल भी ध्यान नहीं दिया करता था पर अब जब इस्लामी आतंकी की आंच इन बड़े देशों को भी अपने लपेटे में ले रही है तो इन्हें यह लगने लगा है कि अब पूरा पाक ही आतंक के काम में लगा हुआ है ? यह सही है कि कहीं से भी अस्थिर पाक पूरी दुनिया के लिए अच्छा साबित नहीं हो सकता है फिर भी कुछ देश जिनमे अमेरिका भी शामिल है यह कभी भी नहीं चाहेगा कि उनके चहेते पाक पर कोई वास्तविक सख्ती की जाये ? अब समय आ गया है कि पूरी दुनिया यह भी समझ ले कि पाक कहीं से भी भरोसे के लायक नहीं है.
        पर लगता है कि भारत आने से पहले सभी देश केवल भारत के बड़े बाज़ार को देखते हुए भारत के हित की बातें बोल दिया करते हैं जिससे भारत में उनके लिए समस्याएं कम हो जाएँ और उन्हें किसी भी असहज करने वाले सवाल का सामना नहीं करना पड़े ? आखिर कब तक दुनिया के ये बड़े प्रभावशाली देश इस सच्चाई को अनदेखा करते रहेंगें ? सभी जानते हैं कि आखिर क्या सच है और भारत में किसी तरह से पाक आतंकी गतिविधियों में लिप्त है ? अब यह समय आ चुका है कि कहीं न कहीं से सभी इस बात को समझ लें और आतंक के वास्तविक दोषी पाक पर चौतरफा दबाव बनाये वरना कहीं ऐसा न हो कि जब सब कुछ करना चाहें तब तक बहुत देर हो चुकी हो...        

मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

1 comment:

  1. भारत के नेता अन्दर के आतंकियों को खत्म नहीं कर पा रहे हैं, बाहर के लोग क्या करेंगे ?

    ReplyDelete