मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

Thursday, 8 October 2009

वायु सेना आन्तरिक सुरक्षा में ?


देश के गृह मंत्री मंत्री पी चिदंबरम ने जिस तरह से वायु सेना को गोली चलाने के आदेश का समर्थन किया है वह बहुत आवश्यक था। आज देश में अलगाव वादियों की हिम्मत इतनी हो गई कि उन्होंने पिछले दिनों वायुसेना के हेलीकॉप्टर पर गोलियां चलने का दुस्साहस किया था । इसके बाद यह बहुत ही उचित है कि ऐसी किसी भी परिस्थिति में वायु सैनिकों को अपनी रक्षा हेतु गोली चलाने का अधिकार दे दिया जाए। देश के सैनिक एवं अर्ध सैनिक बल खुले आम अपने काम में लगे रहते हिं ऐसे में उन पर किसी भी आतंकी संगठन की नज़र पड़ सकती है जो कि उनके लिए बड़ा खतरा ही सकती है। सभी जानते हैं कि इन सैनिकों को गोलियां चलाने का अधिकार नहीं होता बस इसी बात का फायदा कहीं भी उठाया जा सकता है। वायु सेना प्रमुख पी वी नायक ने कहा है कि हम जानते हैं यह कहना आसान हैं पर इसके लिए नियम बहुत ही कड़े हैं कोई किसी भी परिस्थिति में गोली चलाने के अधिकार का प्रयोग नहीं कर सकता है। चिदंबरम ने कहा कि वायु सेना अपने जवानों आदि को बचने के लिए पर्याप्त कार्यवाई कर सकती है। इस मसले पर सुरक्षा मामलों की समिति में विचार किया जाना है। देश के सामने उत्पन्न चुनौतियों को देखते हुए यदि इस तरह के किसी आदेश को दिया जाता है तो वह आतंकियों के मन में यह डर बैठा देगा कि अब ये बल आत्म रक्षा में हथियार उठाने में संकोच नहीं करेंगें। बस उनका मनोबल कमज़ोर करने के लिए इतना ही बहुत होगा फिर भी आतंकियों से किसी भी मसले पर नरमी से नहीं निपटा जाना चाहिए। देश एक कमज़ोरी का नुकसान सदियों तक झेलता रहता है अतः हम सभी को अपने सुरक्षा बलों का भी ध्यान रखना चाहिए और यदि हम किसी ऐसे स्थान पर रहते हैं जहाँ पर सेना या अर्ध सैनिक बलों कि कम्पनियाँ रहती हैं तो हम सभी को भी अपने आस-पास के लोगों पर खास ध्यान देना चाहिए तथा किसी भी संदिग्ध व्यक्ति या गतिविधि पर तुंरत ही अधिकारियों को सूचित करना चाहिए।

मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

No comments:

Post a Comment