मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

Thursday, 22 April 2010

शादी के बाद भी परेशानी ?

लगता है कि सानिया-शोएब की शादी में उन दोनों में से किसी के ग्रह बहुत ख़राब चल रहे हैं क्योंकि कितने जतन करने के बाद कितनी उठा पटक के बाद जब शादी हो ही गयी तो अब हैदराबाद के एक मुस्लिम संगठन ने इन दोनों और शादी करवाने में अहम् भूमिका निभाने वाले १२ अन्य लोगों के खिलाफ कोर्ट में शिकायत कर दी है कि इन लोगों ने शादी की रस्म का मज़ाक बना दिया तथा काज़ियों ने अपने अधिकारों का दुरूपयोग किया है जिससे मुस्लिम समुदाय की भावनाएं आहत हुई हैं. अब भारत में लोकतंत्र है तो कोर्ट ने बंजारा हिल्स पुलिस को यह निर्देश दे दिया है कि वह पूरी जांच करे और २६ मई तक अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करे. यह सही है कि किसी को भी अपने मन की करने का हक़ है पर शोएब ने पूरे मामले में जिस तरह से लगातार झूठ बोले उनकी कोई ज़रुरत नहीं थी. यदि उनको तलाक़ देना ही था तो शादी की बात क़ुबूल कर वे इस्लामी मान्यताओं के अनुसार तलाक़ भी दे सकते थे. पर उन्होंने जिस तरह से पूरी शादी में तमाशा बनाये रखा उससे सभी की काफी किरकिरी हुई.
अब जब यह शादी हो ही गयी थी तो लोगों को इन दोनों के लिए शुभकामनायें देनी चाहिए थीं पर उसकी जगह पर एक बार मामले को फिर से कोर्ट में ले जाया जाना दुर्भाग्य पूर्ण है. किसी को भी किसी से भी शादी करने का हक़ है पर सानिया इतने दिनों तक देश के लिए खेली और वह एक चमकता हुआ सितारा है सिर्फ इसलिए लोगों ने उसके शादी करने पर इतना हल्ला मचा डाला. पता नहीं कितनी सानिया जिन्हें कोई नहीं जनता इस तरह के मामलों में उलझकर शादियाँ करती रहती हैं ? अच्छा हो कि देश के खिलाड़ियों और अन्य महत्वपूर्ण लोगों के निजी जीवन में हम सभी झांकना बंद कर दें क्योंकि उन्हें कहीं ऐसा न लगे कि उन्होंने कहीं देश के लिए खेलकर कोई गलती नहीं तो कर दी है ? वे भी हमारी तरह से इन्सान हैं और उन्हें भी अपनी भावनाओं के अनुसार चलने का अवसर मिलना ही चाहिए.

मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

No comments:

Post a Comment