मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

Sunday, 15 August 2010

स्वतंत्रता दिवस पर बधाई

हम आज फिर से अपना स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं.... देश ने इन ६३ वर्षों में बहुत अधिक प्रगति की है पर आज तक  हम कोई ऐसा तंत्र नहीं विकसित कर सके जो हमारी इस प्रगति के साथ आने वाली बुराइयों को रोक पाता... सैकड़ों वर्षों की गुलामी के बाद जब हमने खुली हवा में सांस ली तो हम बिलकुल खाली हाथ थे कुछ भी तो नहीं था हमारे पास...... केवल देश को अपने बूते दुनिया के सामने खड़ा कर देना ही उस समय सबसे बड़ी बात मानी जा रही थी..... बंटवारे के कारण रिसते हुए घावों और लूटे हुए विस्थापितों के साथ हमारा नया दिन भी कितना भयावह था... वो पाकिस्तान जो हमसे अपना हिस्सा मांग कर लोगों को पूरी सुरक्षा देने के नाम पर बना था १२ घंटे में ही इतना बदल गया था कि वहां से रेलगाड़ियों में केवल लाशें ही आ रही थीं..... खैर पाक ने जिन निर्दोषों को मारकर अपने नए इतिहास की शुरुआत की थी वह आज उसे भुगत रहा है और हमने सभी को सुरक्षा दी थी जिस कारण आज हम उसके मुकाबले बहुत चैन से रह रहे हैं....
     देश ने आगे बढ़ने में कोई कसर नहीं रखी पर विकास की दौड़ में हमसे ही कुछ गलतियाँ हो गयीं जो नहीं होनी चाहिए थीं .... तब भी बहुत कुछ हमारे लिए नया सा था और आज भी हम उस तरह से अपनी समझ विकसित नहीं कर पाए हैं.... आज भी हमरे पास ऐसे लोगों की पूरी फौज है जो केवल मीन मेख निकालने का ही काम करती रहती है जिसे कोई मतलब नहीं है कि हमारी इससे सारी दुनिया में कितनी भद्द पिटती है... वे नहीं जानते कि ऐसा करके वे केवल दूसरे के हाथों का मोहरा ही बन जाते हैं... अच्छा और बुरा सब कुछ यहीं पर हो रहा है फिर भी हम आगे बढ़ रहे हैं ना... बुराइयों से लड़ते हुए उनको ख़त्म करते हुए आगे बढ़ने वालों को दुनिया सलाम करती है कोई भी देश या समाज कहीं से भी ऐसा कुछ भी बर्दाश्त नहीं कर सकता जिससे उसका बुरा होता हो ?
       आज हमें ही अपने बीच के दुश्मनों को छांटना होगा दूसरों पर उंगली उठाने की जगह अपने को सुधारना होगा... देश को बहुत आगे ले जाने की ज़िम्मेदारी आज हमारी सभी की है... सरकारें क्या कर रही हैं इससे हमें पूरा मतलब होना चाहिए.... वे केवल हमारे आदेशों से ही देश को आगे बढ़ने का काम कर रही हैं.. उनके बारे में खुलकर बात करना हमें सीखना ही होगा..... तभी हम बना पायेंगें हमारे सपनों का एक शक्तिशाली भारत जिसका लोहा सारी दुनिया मानने को खुद ही तैयार हो जाएगी....कितने लोग जानते हैं कि जिस ईस्ट इंडिया कम्पनी ने भारत में व्यापार करने के बहाने राज करना शुरू कर दिया था आज उसका मालिक भी एक भारतीय ही है...... जय हो.....  

मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

1 comment:

  1. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आप एवं आपके परिवार का हार्दिक अभिनन्दन एवं शुभकामनाएँ.

    सादर

    समीर लाल

    ReplyDelete