मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

Thursday, 12 January 2012

आय के साधन और सीएम

             गरीबों और दलितों के नाम पर सत्ता में आई बसपा की सुप्रीमो मायावती ने चुनाव आयोग को दिए गए अपने संपत्ति के ब्योरे में जो तथ्य दिए हैं उससे कोई भी हिल सकता है. आज उन्होंने अपनी संपत्ति ८७ करोड़ बताई है और वे फिलहाल चुनाव वाले राज्यों में सबसे अमीर मुख्यमंत्री हो गयी हैं उनके सामने संपन्न राज्य पंजाब के बादल और गोवा के कामत कहीं भी नहीं टिकते हैं क्योंकि ये दोनों मिलकर भी १० करोड़ का आंकड़ा नहीं छू पा रहे हैं ? किसी के पास संपत्ति कैसे आती है यह जान पाने का कोई यन्त्र नहीं है फिर भी शुक्र है चुनाव आयोग का कि हमारे नेता कुछ भी कहने से पहले बहुत कुछ सोचने लगे हैं क्योंकि अब इस बात का खुलासा जनता के सामने होने लगा है कि कैसे हमारे ये नेता लोग कितने समय में कितने अमीर हो जाते हैं. आख़िर क्या कारण है कि कोई भी किसी भी तरीके से अचानक ही अमीर हो जाता है और हमारी जनता गरीब ही बनी रहती है ? शायद इस बात का जवाब अभी तक जनता ने जाने की कोई कोशिश ही नहीं की जिससे आज भी नेता अमीर और जनता गरीब ही हुई जा रही है ?
            अब समय है कि नेता लोग अपने जीवन में भी शुचिता का प्रयोग करें और आने वाले समय में कुछ ऐसा करना शुरू करें जिससे उनकी संपत्ति के बारे में जनता के मन में कोई संदेह उत्पन्न न होने पाए और नेता लोग पहले के नेताओं की तरह कुछ उदाहरण पेश करना शुरू करें जिससे उनके मन में पहले की तरह आदर आ सके. ऐसा नहीं है कि किसी को इस बात से आपत्ति है कि किसी नेता के पास इतनी संपत्ति कहाँ से आई बल्कि जनता को इस बात से अधिक परेशानी होती है कि केवल वोट लेने के लिए इस तरह की बातें करने वाले नेता लोग अपना काम निकल जाने पर किस तरह से व्यवहार करने लगते हैं और खुद भी भ्रष्टाचारियों की जमात में खड़े नज़र आते हैं ? दूसरों को उपदेश देने के लिए पूरी दुनिया में बहुत सारे लोग हमेशा ही तैयार रहा करते हैं पर अपने आचरण से दूसरों के लिए प्रेरणा बनने वाले कितने लोग अब आज बचे हुए हैं? जब बात सार्वजनिक जीवन की होती है तो उसमें और भी अधिक सावधानी की आवश्यकता हुआ करती है पर आज इस बात को या तो हमारे नेता समझना नहीं चाहते या फिर उन्हें इस बात की ग़लतफ़हमी है कि जनता कुछ भी नहीं कर सकती है ?
      केवल दूसरों पर कीचड़ उछालने के स्थान पर आज इस बात की आवश्यकता है कि हम सभी अपने क्षेत्र के नेताओं पर पूरा ध्यान रखें क्योंकि अगर कोई भी नेता कम समय में इतना अमीर हुआ जा रहा है कि उसका कोई मुकाबला नहीं कर पा रहा है तो इसका सीधा सा मतलब यही है कि वह हमें हमारे विश्वास को धोखा दे रहा है और आने वाले समय के लिए हमारा विश्वास भी खो रहा है. अब केवल इस बात का इंतजार नहीं करना चाहिए कि कभी अन्ना हजारे हमारे क्षेत्र में आयेंगे और पलक झपकते ही हमारी समस्याओं का समाधान कर देंगें ? हर व्यक्ति को अमर शहीद भगत सिंह बहुत अच्छे लगते हैं पर सभी यह भी चाहते हैं कि वो उनके घर के स्थान पर पड़ोसियों के घर में जन्म लें ? देश हमारा है तो हमें ही सपूत पैदा करने ही होंगें जो किसी भी स्थिति में देश के लिए कुछ करने का जज़्बा रखते हों ? आज देश को किसी आन्दोलनकारी के स्थान पर देश के बारे में केवल सोचने वाले ही चाहिए क्योंकि बिना उनके अब यह देश सही दिशा में नहीं चल पायेगा और कभी कोई तो कभी कोई भ्रष्टाचारी का रूप रखकर हमारे संसाधनों को लूटने का काम करता रहेगा...    
मेरी हर धड़कन भारत के लिए है...

2 comments:

  1. एक एक विधायक करोड़ों का होता है श्रीमान जी.

    ReplyDelete
  2. एक एक विधायक करोडों का है श्रीमान जी.

    ReplyDelete